Apne log news

No.1 news portal of Uttarakhand

स्वतंत्रता सेनानी परिवारों की बुलन्द हुई आवाज: जितेन्द्र रघुवंशी

सुनील मिश्रा
हरिद्वार। देश के विभिन्न राज्यों में “प्रत्येक महीने के प्रथम रविवार को 10:00 बजे 10 मिनट अपने पूर्वजों के नाम अभियान” के अंतर्गत देशभर से उठी स्वतंत्रता सेनानी परिवारों की बुलन्द आवाज को सरकारें अनसुनी नहीं कर सकीं। 6 माह पूर्व से स्वतंत्रता सेनानी उत्तराधिकारी परिवार समिति (रजि.) के द्वारा देशभर के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों तथा अमर शहीदों के पद रज संग्रहित करने का अभियान वृहद स्तर पर चलाया जा रहा है। देशभर में हर प्रांत में पदरज कलश तैयार किए गए हैं। हमारी इस भावना की ओर केन्द्र सरकार का भी ध्यान गया और अब अमृत महोत्सव वर्ष में ही *मेरी माटी मेरा देश* के नाम से स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों तथा अमर शहीदों के पदरज संग्रह करने का अभियान केन्द्र सरकार ने भी आरंभ कर दिया है।

इसके साथ ही अमृत महोत्सव वर्ष जो 15 अगस्त को समाप्त हो रहा था, उसे भी 30 अगस्त तक के लिए बढ़ा दिया गया है। हमारे 19 दिसंबर 2022 को जंतर-मंतर पर दिए गए अधिकार पत्र का संज्ञान लेकर स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों तथा उनके परिवारों को सम्मानित करने के लिए केन्द्र सरकार ने शासनादेश भी जारी किया गया है, जिसमें यह निर्देश दिया गया है कि हर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी शहीद के परिवार को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया जाए तथा उसका फोटो भारत सरकार को भेजा जाए। भारत सरकार ने संस्कृति मंत्रालय के द्वारा देश भर के स्वतंत्रता सेनानी परिवारों के इतिहास को संस्कृति मंत्रालय की वेबसाइट पर अपलोड करने का कार्य आरंभ कर दिया है कई हजार सेनानियों के विवरण वेबसाइट पर प्रकाशित भी हो चुके हैं। यह सब हम सभी की एकजुटता का प्रभाव है। हर महीने होने वाला यह प्रथम रविवार 10 बजे 10 मिनट अपने पूर्वजों के नाम अभियान हमारे आपके हर स्वप्न को पूरा करेगा। यह हमारा विश्वास है।

आज देश के विभिन्न जिलों के साथ ही हरिद्वार जनपद में अमर शहीद जगदीश वत्स पार्क ज्वालापुर में अमर शहीद जगदीश वत्स के चित्र पर संगठन के उपाध्यक्ष मुरली मनोहर तथा प्रसिद्ध समाजसेवी जगदीश लाल पाहवा व उपस्थित परिवारों द्वारा पुष्पांजलि अर्पित की गईं। स्वतंत्रता सेनानी उत्तराधिकारी परिवार समिति के राष्ट्रीय महासचिव जितेन्द्र रघुवंशी ने इस अवसर पर कहा कि *हर महीने प्रथम रविवार 10 बजे 10 मिनट पूर्वजों के नाम* अभियान के अंतर्गत यह कार्यक्रम आज पूरे देश में एक साथ सम्पन्न हो रहे हैं, उन्होंने कहा कि हम आज हम अपने पूर्वजों के सम्मान तथा अपने अस्तित्व की रक्षा के लिए इन कार्यक्रमों के माध्यम से देश भर के सेनानी परिवारों को संगठित करने का प्रयास कर रहे हैं। डॉ विनोद कुमार उपाध्याय ने अपने पिता स्वतंत्रता संग्राम सेनानी श्री नत्थाराम भारद्वाज जी के जीवन परिचय से लोगों को अवगत कराया। उन्होंने उनकी जेल यात्रा से लेकर स्वतंत्रता आन्दोलन में किए गए पुरुषार्थ का चित्रण किया।
इसके साथ ही देश के विभिन्न भागों उत्तर प्रदेश में रमेश कुमार मिश्रा, राजेन्द्र पाण्डेय, मुन्ना लाल कश्यप, राम महेश मिश्रा, इशरत उल्ला खान, राजेश प्रताप सिंह, महन्थ प्रजापति, मध्य प्रदेश में दिलीप मराठे, सुनील कुमार गुजराती, शैलेन्द्र जलखरे, राकेश चौरसिया, ओमप्रकाश वर्मा, संजय चौबे, हरियाणा में कपूर सिंह दलाल, उत्तराखंड में अवधेश पंत, शशांक गुप्ता, सोमेन्द्र टंडन, इन्द्रलाल आर्य, महाराष्ट्र में अप्पासाहेब शिंदे, उड़ीसा में प्रकाश नायक, बसन्त कुमार दास, राजस्थान में विशाल सिंह सौदा, प. बंगाल में मोनोतोष दास, त्रिपुरा में श्रीमती दीपा दास, झारखंड में दिवाकान्त झा, पंजाब में परमजीत सिंह, निर्मल सिंह, छत्तीसगढ़ में मुरली मनोहर खण्डेलवाल, अशोक रायचा, तमिलनाडु में एम. षणमुगसुंदरम, कुइलिन त्रिची, तेलंगाना में सिंगू रमेश महमूदाबाद, बी. रविंद्र गुप्ता तथा कर्नाटक में अप्पाराव नावले के नेतृत्व में सभी कार्यक्रम आयोजित किए गए। पहली तारीख को इन्दौर में अजय सीतलानी जी के नेतृत्व में माता अहिल्याबाई की प्रतिमा एवं बापू की समाधि पर माल्यार्पण करके राष्ट्रगान एवं राष्ट्रगीत का गायन किया गया।
हरिद्वार जिले में स्वतंत्रता सेनानी स्मृतिस्तंभ बहादराबाद, लक्सर, भगवानपुर, राजा विजय सिंह स्मारक कुंजा बहादुरपुर में भी पुष्पांजलि समर्पित करके राष्ट्रगान एवं राष्ट्रगीत गायन किया गया। रुड़की तहसील में स्वतंत्रता सेनानी उत्तराधिकारी परिवार समिति के अध्यक्ष देशबन्धु , कार्यकारी अध्यक्ष सुरेन्द्र कुमार सैनी, संगठन के प्रवक्ता श्रीगोपाल नारसन , नवीन शरण निश्चल के नेतृत्व में रुड़की क्षेत्र के स्वतंत्रता सेनानी परिजनों ने सुनहरा वट वृक्ष व ब्लाक कार्यालय परिसर में बने स्वतंत्रता सेनानी स्तम्भ, बहादराबाद में अशोक चौहान जी के नेतृत्व में भावभीनी श्रद्धांजलियां अर्पित की गईं। कार्यक्रम के अन्त में दिल्ली की झांसी रानी रेजीमेंट की महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी श्रीमती कामची अम्मल के निधन पर दु:ख व्यक्त करते हुए दो मिनट मौन रहकर श्रद्धांजलि समर्पित की गई।
हरिद्वार में स्वतंत्रता सेनानी परिवारों के श्री नरेन्द्र कुमार वर्मा, डॉ विनोद कुमार उपाध्याय, कुशल उपाध्याय, आदित्य उपाध्याय, वीरेंद्र गहलोत, शिवेंद्र गहलोत, डॉ वेद प्रकाश आर्य, धर्मवीर धींगरा, सुरेंद्र छावड़ा, आशुतोष शर्मा, धीरज शर्मा, संचित शर्मा, आदित्य गहलोत, कमांडर आमोद चौधरी, श्री राम गुप्ता, विश्वास सक्सेना, अजीत सिंह योगाचार्य आदि सम्मिलित हुए।

अधिक पढ़े जाने वाली खबर

Share
error: Content is protected !!