Apne log news

No.1 news portal of Uttarakhand

पौड़ी से कांग्रेस प्रत्याशी गणेश गोदियाल के नामांकन में उमड़ा जनसैलाब, बेचैन हुई भाजपा। अंकिता भंडारी सहित जनहित के अनेकों मुद्दों पर भाजपा पर बोला जबरदस्त हमला।

राजेंद्र शिवाली

पौड़ी। कांग्रेस प्रत्याशी गणेश गोदियाल के नामांकन में पौडी में उमड़े जनसैलाब ने बेहद रोचक चुनावी संघर्ष की पटकथा लिख दी। दूर-दराज से रामलीला ग्राउंड में उमड़ी महिलाओं व जनता के जोश के बीच खालिस गढ़वाली में दिए कांग्रेस प्रत्याशी गणेश गोदियाल के धारा प्रवाह भाषण के जरिये भाजपा की कथनी व करनी पर जबरदस्त हमला बोला। कांग्रेस प्रत्याशी गोदियाल ने अंकिता भण्डारी हत्याकांड में वीआईपी को लेकर भाजपा की चुप्पी को बड़ा सवाल बनाया। उन्होंने कहा कि दो बार उत्तराखंड आ चुके पीएम मोदी अंकिता भंडारी मुद्दे पर मौन रहे। पहाड़ की बेटी ने झुकने के बजाय मरना पसंद किया। कहा कि पीएम मोदी ने वीआईपी को 24 घँटे के अंदर पकड़ने के निर्देश क्यों नहीं दिए?स्मृति ईरानी की चुप्पी को लेकर भी गोदियाल समेत अन्य वक्ताओं ने भाजपा को खूब घेरा। अंकिता भंडारी का जिक्र होते ही मौजूद जन समूह की नाराजगी भी झलकी। गोदियाल ने कहा कि इस हत्याकांड में भाजपा के बड़े नेता का नाम सामने आया है।

कांग्रेस प्रत्याशी गणेश गोदियाल ने पहाड़ के मर्म को छूते हुए कहा कि कांग्रेस का शासन आने पर अग्निवीर योजना को खत्म कर फ़ौज की रेगुलर भर्ती की जाएगी। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने पहाड़ के युवाओं के रोजगार का प्रमुख आधार फौज की रेगुलर भर्ती को भी भाजपा ने बन्द कर दिया। गोदियाल ने कहा कि फौज की रेगुलर भर्ती नहीं होने पर 20 साल बाद पहाड़ में रिटायर सूबेदार, हवलदार व ऑनरेरी कैप्टेन नहीं मिलेंगे। कांग्रेस के ही शासन में पहाड़ के युवाओं के लिए फौज की नौकरी बेहतर विकल्प होता था। कांग्रेस प्रत्याशी ने सीडीएस विपिन रावत की दुर्घटना में हुई मौत पर भी सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि उनकी मौत की जांच रिपोर्ट अभी तक सामने नहीं आयी है।गोदियाल ने कहा कि भाजपा के प्रत्याशी एक महीना पिकनिक मनाने आये हैं। उन्होंने उत्तराखंड नहीं आने को भी मुद्दा बनाया।गोदियाल ने कहा कि भाजपा ने 2014 से झुठ बोलकर जनता को ठगा है। अच्छे दिन, 2 करोड़ नौकरी और अब 2047 तक रामराज्य लाने की बात कहकर जनता को ठग रहे हैं। उन्होंने जनता से कहा कि अब भाजपा की ठगी में आने की जरूरत नहीं है। कांग्रेस हाथ में भेली (गुड़) देती है, जिसे लोग कह सके और भाजपा गुड़ को कोहनी में लगा देती है जिसे कोई खा ही नहीं सकता। इस उदाहरण से गोदियाल ने भाजपा के झूठ को रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि उन्हें संसद में अपना वकील बनाकर भेजें ताकि पहाड़ के मुद्दों को आवाज दी जा सके। गोदियाल ने इस चुनावी जंग को 1982 के हेमवतीनन्दन बहुगुणा के सत्ता के खिलाफ हुई चुनावी जंग से जोड़कर स्वंय के लिए आशीर्वाद मांगा। गणेश गोदियाल ने वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली, स्वर्गीय सीडीएस विपिन रावत, लोक गायक नरेंद्र सिंह नेगी की खूबियों का भी अपने भाषण में जिक्र कर कांग्रेस को जिताने की अपील की। गोदियाल ने भाषण की शुरुआत में कहा कि भाजपा की पूरी कोशिश थी कि आज उनका नामांकन नहीं हो पाये। अड़चन डालने की कोशिश की गई।बहरहाल, कांग्रेस प्रत्याशी गोदियाल ने गढ़वाली में किये सम्बोधन के जरिये उपस्थित जनसमूह के दिलों को छूने की सफल कोशिश की। गोदियाल अंकिता भंडारी, अग्निवीर, शहीदों, बेरोजगारी, महंगाई, वन रैंक वन पेंशन,ओल्ड पेंशन स्कीम, आंगनबाड़ी, उपनल, आशा कार्यकत्री समेत अन्य मुद्दों को छूते हुए भाजपा कैम्प में हलचल मचा गए। इस मौके पर पूर्व मंत्री शूरवीर सिंह सजवाण, सुरेंद्र सिंह नेगी, मंत्री प्रसाद नैथानी, पूर्व विधायक रणजीत रावत, ओमगोपाल, मनोज रावत, ज्योति रौतेला, अतुल सती आदि मौजूद रहे।
राजेन्द्र शिवाली पत्रकार

अधिक पढ़े जाने वाली खबर

Share
error: Content is protected !!