Apne log news

No.1 news portal of Uttarakhand

शहरी क्षेत्रों में हुए कम मतदान से भाजपा नेताओं की उड़ी नींद, कांग्रेसी हुए गदगद

मनोज सैनी
हरिद्वार। लोक सभा चुनाव- 2024 के पहले चरण के चुनाव में मतदाताओं ने हरिद्वार लोकसभा सीट के सभी प्रत्याशियों का फैसला ईवीएम में कैद कर दिया है। शहरी क्षेत्रों में मतदान का कम प्रतिशत भाजपा नेताओं के माथे पर चिंता की लकीरें पैदा कर गया। मतदान से पूर्व सभी को लग रहा था कि हरिद्वार लोक सभा सीट भाजपा आसानी से जीत जायेगी मगर आज हुए मतदान से जो जानकारी आ रही है उसने भाजपा की नींद उड़ा दी है। आज हुए मतदान में ग्रामीण क्षेत्रों में दलितों को संविधान बदले जाने के भाजपा नेताओं के बयानों ने असहज कर दिया, जिसका परिणाम यह हुआ कि अनुसूचित जाति का अधिकाधिक वोट बसपा को न पड़कर कांग्रेस की झोली में चला गया। करोंदी, भगवानापुर नवीन सैनी और लक्सर निरंजनपुर से मगन सैनी ने बताया कि उनके क्षेत्रों में इस बार अनुसूचित जाति का लगभग 70 से 80 प्रतिशत वोट कांग्रेस प्रत्याशी की झोली में गया है और मुस्लिम समाज से भी लगभग 95 प्रतिशत मतदान कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में हुआ है। जिसका ग्रामीण क्षेत्रों में सीधा सीधा खामियाजा भाजपा को भुगतना पड़ सकता है। वहीं शहरी क्षेत्रों में मतदान का प्रतिशत कम होने का कारण व्हाइट कॉलर के मतदाताओं द्वारा मतदान से दूरी बनाना पाया गया। हरिद्वार क्षेत्र की यदि बात की जाए तो कम मतदान होने से भाजपा कार्यकर्ताओं के माथे पर शिकन देखते ही बनती है। वहीं कांग्रेस कार्यकर्ताओं को मिल रही जानकारी के आधार पर गदगद दिखाई दे रहे है।
दूसरी और निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर खड़े खानपुर विधायक उमेश कुमार और बसपा से बाहरी प्रत्याशी मात्र वोट कटवा ही साबित हुए। दोनों प्रत्याशियों की हालात आज यह थी की अनेक मतदान केंद्रों पर दूर दूर तक बस्ते भी दिखाई नहीं दिए।

अधिक पढ़े जाने वाली खबर

Share
error: Content is protected !!